कोयलांचल में कोयला कारोबारियों के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी, तीन करोड़ रुपये नगद बरामद

Singhbhum Times Avatar
कोयलांचल में कोयला कारोबारियों के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी, तीन करोड़ रुपये नगद बरामद
खबर को शेयर करे

Dhanbad, 17 जनवरी 2024: झारखंड के धनबाद जिले के अलावा बिहार, पश्चिम बंगाल और छत्तीसगढ़ में आयकर विभाग की टीम ने बुधवार को कोयला कारोबारियों के 56 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की। धनबाद जिले में ही करीब दो दर्जन ठिकानों पर टीम की दबिश देर रात तक जारी रही। टीम ने तीन करोड़ रुपये नगद बरामद किए हैं।

आयकर विभाग की टीम ने कोयला कारोबारी दीपक पोद्दार, अनिल खेमका, राजेंद्र कुमार, रमेश अग्रवाल, साबिर आलम, राणा रंजीत सिंह, पिंटू अग्रवाल, अनिल कुमार और रवि रवानी के ठिकानों पर दबिश दी। इनके कार्यालय, आवास और संबंधित ठिकाने आयकर टीम के निशाने पर रहे। टीम में आईटी के करीब 170 अधिकारी व 250 सीआरपीएफ के जवान लगे हैं। इनमें धनबाद के अलावा बाहर की भी टीमें शामिल हैं।

अहले सुबह हुई इस छापेमारी से कोयलांचल के कोयला कारोबारियों में हड़कंप मच गया। धनबाद में देर रात तक मोबाइल घनघनानाते रहे। चर्चा है कि इन कोयला कारोबारियों के ठिकानों पर छापेमारी हजारीबाग में ईडी के हत्थे चढ़े कोयला कारोबारी इजहार अंसारी से पूछताछ के बाद मिले सुराग के आधार पर की गयी है।

आयकर विभाग के एडिशनल डायरेक्टर (इन्वेस्टिगेशन विंग) नरसिंह खलखो ने बताया कि टीम ने चार राज्यों में छापेमारी की है। 56 स्थानों पर सर्च कर रही है। इस दौरान वेडलॉक रिजार्ट से तीन करोड़ रुपये कैश मिले हैं। टीम की छापेमारी जारी है।

छापेमारी में मिले दस्तावेजों और डिजिटल डेटा के आधार पर आयकर विभाग को उम्मीद है कि उसे कोयला कारोबारियों से जुड़े बड़े घोटाले का पता चल सकता है।

https://singhbhumtimes.com/bokaro-youth-arrested-with-loaded-gun-two-case/

जुड़े हमारे Whatsapp चैनल से और रहे हर खबरों से Update

Click to visit geeksforgeeks.org

Discover more from SINGHBHUM TIMES

Subscribe to get the latest posts to your email.

Leave a Reply

Author Profile
Singhbhum Times Logo
Singhbhum Times

SINGHBHUM TIMES

Remember, knowledge is power, and we empower you with the facts you need to stay informed.

Search

Discover more from SINGHBHUM TIMES

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading