Breaking News
Mon. Apr 22nd, 2024

Bokaro News-डीपीएस के छात्रों ने गौ-रक्षा के लिए नंदिनी नाम का एक सॉफ्टवेर बनाया

Bokaro News-डीपीएस के छात्रों ने गौ-रक्षा के लिए नंदिनी नाम का एक सॉफ्टवेर बनायाBokaro News-डीपीएस के छात्रों ने गौ-रक्षा के लिए नंदिनी नाम का एक सॉफ्टवेर बनाया
खबर को शेयर करे

बोकारो: 12 दिसंबर 2023 बोकारो डीपीएस के 10वीं कक्षा के छात्र सर्वज्ञ और कक्षा नौवीं के ऋषित शांडिल्य ने एक अनूठी तकनीक का आविष्कार करके गौ-रक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इन छात्रों ने एआई (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) सेंसर की मदद से गायों और अन्य मवेशियों की बीमारियों को पहचानने के लिए एक विशेष वेब एप विकसित की है जिसके जरिए उनका सही समय पर इलाज संभव हो सकेगा।

इस नई तकनीक को ‘नंदिनी’ नाम दिया गया है जोकि एक सॉफ्टवेयर यह गौ-रक्षा के क्षेत्र में अपनी पहचान बना रहा है। छात्रों ने बताया कि बोकारो में मवेशियों के अनुपात में पशु चिकित्सकों की कमी है और इस समस्या का समाधान नंदिनी सॉफ्टवेयर से हो सकता है।

छात्रों ने मवेशियों की स्वास्थ्य-जांच से जुड़ा एक प्रोटोटाइप मॉडल बनाया है जिसके जरिए पशुपालक चिकित्सकों को गायों की जांच कराने के बाद स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव और उपचार के लिए दवा देने में सहायता की जा सकती है।

Bokaro News-डीपीएस के छात्रों ने गौ-रक्षा के लिए नंदिनी नाम का एक सॉफ्टवेर बनाया
Bokaro News-डीपीएस के छात्रों ने गौ-रक्षा के लिए नंदिनी नाम का एक सॉफ्टवेर बनाया

इस परियोजना की अगली कदम में छात्रों ने एआई-सक्षम प्रणाली विकसित कर उपयोगकर्ताओं को पशु चिकित्सकों के साथ जोड़ने के लिए एक टेलीमेडिसिन प्लेटफॉर्म तैयार करने का निर्णय लिया है। यह प्लेटफॉर्म पशु चिकित्सकों और पशुपालकों के बीच की दूरी को कम करेगा और उपयोगकर्ताओं के लिए पेशेवर सलाह और सेवाओं तक पहुंचने को सरल बनाएगा।

मॉडल की कार्यप्रणाली में सेंसर का उपयोग करके पशुओं की हृदय-गति और उनके शरीर के तापमान को मापा जाता है, और इस जानकारी को वेब एप पर जानवरों के संभावित रोगों की पहचान के लिए उपयोग किया जाता है। छात्र सर्वज्ञ ने बताया कि इसके बाद स्थानीय पशु चिकित्सकों से संपर्क कर राय मशवरा ली जा सकती है और समय पर मवेशियों का उपचार कर उनकी जान बचाई जा सकती है।

इस मॉडल को बनाने में लगभग 900 रुपये तक का खर्च आया है, जिसमें नंदिनी वेब एप के अलावा इलेक्ट्रिकल बोर्ड और सेंसर शामिल हैं। छात्रों ने इस प्रोजेक्ट के माध्यम से गौ-रक्षा के क्षेत्र में सामाजिक सेवा करने का संकल्प लिया है।

बोकारो डीपीएस के प्रमुख, डॉ एएस गंगवार ने छात्रों की इस नवोन्मेषता की सराहना करते हुए कहा कि यह विद्यालय अपने छात्रों को वैज्ञानिक प्रतिभा को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है और उन्हें हर अवसर प्रदान करता है।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *