Breaking News
Thu. Apr 25th, 2024

जमशेदपुर पुलिस ने फर्जी बेलर बन अपराधियों को जमानत दिलाने वाले गिरोह का किया खुलासा, 2 गिरफ्तार

जमशेदपुर पुलिस ने फर्जी बेलर बन अपराधियों को जमानत दिलाने वाले गिरोह का किया खुलासा, 2 गिरफ्तारजमशेदपुर पुलिस ने फर्जी बेलर बन अपराधियों को जमानत दिलाने वाले गिरोह का किया खुलासा, 2 गिरफ्तार
खबर को शेयर करे

Jamshedpur News-02 अप्रेल 2024: जमशेदपुर पुलिस ने फर्जी बेलर बनकर अपराधियों को जमानत दिलाने वाले गिरोह का खुलासा किया है। पुलिस ने गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार हुए आरोपियों में सिदगोड़ा 10 नंबर बस्ती निवासी अरविंद प्रसाद सिंह, आदित्यपुर 2 रोड नंबर 11 निवासी नवीन कुमार राय शामिल है।

गिरफ्तार हुए आरोपियों के पास से पुलिस ने 54 आधार कार्ड 17 वाहनों के रजिस्ट्रेशन कार्ड, 25 सेट आधार कार्ड एवं वाहनों के रजिस्ट्रेशन नंबर एवं वाहन का पॉलिसी पेपर का छाया प्रति, 57 पीस स्टांप पेपर, अलग- अलग व्यक्तियों का पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ 30 पीस, दो पीस छोटा स्टेपलर, तीन मोबाइल फोन

एसएसपी किशोर कौशल ने बताया की लगातार सूचना मिल रही थी कि कुछ लोग फर्जी आधार कार्ड एवं वाहनों का रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र बनाकर फर्जी व्यक्ति बनाकर जेल में बंद अपराधियों को जमानत लेने के लिए जमानदर बन रहे हैं। सिविल कोर्ट सुरक्षा में लगाए गए पुलिस पदाधिकारी एवं कर्मियों को कोर्ट परिसर में आने- जाने वाले व्यक्तियों का सघन जांच करने एवं संदिग्ध व्यक्तियों पर नजर रखने के लिए निर्देशित किया गया था।

इसी क्रम में सोमवार को सिविल कोर्ट गेट नंबर 3 पर तैनात पुलिस पदाधिकारी एवं कर्मियों द्वारा दो संदिग्ध व्यक्तियों को पकड़ा गया। दोनों व्यक्तियों का जांच किया गया। उनके पास से एक ही आधार कार्ड नंबर, नाम एवं पता के कई आधार कार्ड जिसमें अलग-अलग व्यक्तियों का फोटो है, बरामद किया गया। इसके अलावा, कई वाहनों के रजिस्ट्रेशन कार्ड का मूल प्रति, छाया प्रति, स्टांप टिकट, अलग-अलग व्यक्तियों का 30 पासपोर्ट साइज फोटो इत्यादि बरामद किया गया।

पूछताछ में आरोपियों ने बताया की पैसा लेकर अपराधियों के जमानत के लिए फर्जी बेलर बनते हैं। एक ही आधार नंबर एवं नाम के आधार कार्ड में अलग-अलग व्यक्तियों का फोटो लगाकर दूसरे व्यक्तियों को भी फर्जी बेलर बनाते हैं।राजेश श्रीवास्तव नामक अधिवक्ता ने उन्हें फोन कर जमानत के लिए बुलाया था। एक बेल कराने के हजार रुपये से ज्यादा मिलते थे।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *