Breaking News
Mon. Apr 22nd, 2024

Jamshedpur The proposal for Forest Department approval for Dhalbhumgarh Airport is pending : जमशेदपुर : धालभूमगढ़ हवाई अड्डे के लिए वन विभाग की मंजूरी का प्रस्ताव प्रधान मुख्य वन संरक्षक, वन विभाग, झारखंड सरकार के पास लंबित।

Jamshedpur The proposal for Forest Department approval for Dhalbhumgarh Airport is pending : जमशेदपुर : धालभूमगढ़ हवाई अड्डे के लिए वन विभाग की मंजूरी का प्रस्ताव प्रधान मुख्य वन संरक्षक, वन विभाग, झारखंड सरकार के पास लंबित।Jamshedpur The proposal for Forest Department approval for Dhalbhumgarh Airport is pending : जमशेदपुर : धालभूमगढ़ हवाई अड्डे के लिए वन विभाग की मंजूरी का प्रस्ताव प्रधान मुख्य वन संरक्षक, वन विभाग, झारखंड सरकार के पास लंबित।
खबर को शेयर करे

Jamshedpur, 04 अप्रेल 2024: पूर्वी सिंहभूम जिले के धालभूमगढ भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) द्वारा धालभूमगढ़ हवाई अड्डे के विकास के लिए वन विभाग की मंजूरी का प्रस्ताव प्रधान मुख्य वन संरक्षक, वन विभाग, झारखंड सरकार के पास अब तक लंबित।

शशांक शेखर स्वाई ने एएआई से शिकायत की है कि एटीआर-72 प्रकार के विमानों के उचित मौसम संचालन के लिए हवाई अड्डे के विकास के लिए टीओआर के लिए दोबारा आवेदन क्यों नहीं किया जा रहा है। प्रस्ताव संख्या आईए/जेएच/एमआईएस/127782/2019 और फ़ाइल संख्या 10-58/2019-IA-III है।

पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार के परिवेश पोर्टल पर यह प्रस्ताव अस्वीकृत दिखाई दे रहा है। आखिरी अपडेट वर्ष 2020 का था।

क्षेत्रीय उड़ान सेवा को बढ़ावा देने के तहत पूर्वी सिंहभूम में एयरपोर्ट की योजना 2019 में बनी थी। इससे धालभूमगढ़ व चाकुलिया में निरीक्षण हुआ और धालभूमगढ़ में एयरपोर्ट को मंजूरी मिल गई। लेकिन वन भूमि और एलीफेंट कॉरिडोर की समस्या उत्पन्न होने से केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय ने फाइल वापस कर दी।

बताया जाता है कि धालभूमगढ़ एयरपोर्ट बनाने में केंद्र व राज्य सरकार का तीन सौ करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होंगे। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने सौ करोड़ की मंजूरी दी थी। इसके बाद धालभूमगढ़ में एयरपोर्ट की आधारशिला रखी गई, ताकि झारखंड के कोल्हान समेत ओडिशा व पश्चिम बंगाल के निवासियों को एयरपोर्ट की सुविधा मिल सके।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *